Monday, July 05, 2010

ख्वाब

मेरा एक ख्वाब है, तुम उसे पूरा करवा दो,
हंसना चाहता हूं, खुल कर हंसवा दो।
मेरा एक ख्वाब है, तुम उसे पूरा करवा दो,
एक छोटे से बच्चे की किलकारी जैसी हंसी हंसवा दो।
मेरा एक ख्वाब है, तुम उसे पूरा करवा दो,
रोते हुए छोटे बच्चों को हंसवा दो।
मेरा एक ख्वाब है, तुम उसे पूरा करवा दो,
उदास होठों पर हंसी करवा दो।
मेरा एक ख्वाब है, तुम उसे पूरा करवा दो,

दुश्मनी में क्या रखा है, हंस कर दोस्ती करवा दो।
Post a Comment

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी , खुशी की घड़ियां मना रहे हैं करें बयां क्या सिफ़त तुम्हारी , जबां में ताले पड़े हैं। सु...