Saturday, October 09, 2010

उससे

न गिला करो उससे
गिला करेगा वो तुमसे।
न शिकायत करो उससे
शिकायत करेगा वो तुमसे।
न करो क्रोध उससे
क्रोध करेगा वो तुमसे।
न करो नफ़रत उससे
नफ़रत करेगा वो तुमसे।
न उम्मीद करो उससे
उम्मीद करेगा वो तुमसे।
चैन से रहनो दो उसको
चैन से रहने देगा वो तुमको।
प्यार करोगे उससे
प्यार करेगा वो तुमसे।
प्यार कर प्यार कर सब से
प्यार कर प्यार कर सब से।
Post a Comment

जगमग

दिये जलें जगमग दूर करें अंधियारा अमावस की रात बने पूनम रात यह भव्य दिवस देता खुशियां अनेक सबको होता इंतजार ...