Friday, February 04, 2011

सुख दुख

Fair whether friends share our joys but avoid us when we face difficulties.
However, a true friend will stay by our side during both good times and bad.


सुख के संगी स्वार्थी
दुख में रहते दूर
कहे कबीर परमार्थी
दुख सुख सदा हुजूर

Post a Comment

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी , खुशी की घड़ियां मना रहे हैं करें बयां क्या सिफ़त तुम्हारी , जबां में ताले पड़े हैं। सु...