Sunday, February 06, 2011

दीपक

When I was there, Hari was not.
When Hari was there, I was not.
However, all the darkness was mitigated when I saw the light within.


जब मैं था तब हरी नही
अब हरी है मैं नाही
सब अंधियारा मिटि गया
जब दीपक देख्या माहि

Post a Comment

मौसम

कुछ मौसम ने ली करवट दिन सुहाना हो गया रिमझिम बूंदें पड़ने लगी आषाढ़ में सावन आ गया गर्म पानी भाप बन कर उड़ गया ...