Friday, October 11, 2013

मायूसी

मायूसी

सोचा था मेले में आनन्द मिलेगा ।
मगर धक्कों से मायूसी मिली ।।

तमाम शहर में पता पूछ कर जब उसके घर पहुंचा ।

वो तब तक वहां से कूच कर चुका था ।।
Post a Comment

अनाथ

चमेली को स्वयं नही पता था कि उसके माता - पिता कब गुजरे। नादान उम्र थी उस समय चमेली की सिर्फ चार वर्ष। सयुंक्त परिव...