Saturday, January 11, 2014

मेरे भाग जो

मेरे भाग जो होवन चंगेरे, मैं तेरे दर ते आवां,
जो होवे कृपा तेरी, मैं रज रज दर्शन पावां,
जो मैं होवां फुल गुलाबी, ते कोई भगत तोड ले जावे,
औ हार श्याम गल पावे, मैं हृदय नाल लग जावां,
मेरे भाग जो होवन चंगेरे, मैं तेरे दर ते आवां,
जो होवे कृपा तेरी, मैं रज रज दर्शन पावां।

जो मैं होवां मोर रंगीला, ते मैं वन विच पहलियां पावा,
मेरा श्याम बलावे बंसी, मैं नच्च नच्च के ते नाले पावां,
मेरे भाग जो होवन चंगेरे, मैं तेरे दर ते आवां,
जो होवे कृपा तेरी, मैं रज रज दर्शन पावां।

जो मैं होवा जल दी मच्छली, ते मैं जल विच तरियां लावां,
मेरा श्याम करे इश्नान, ते मैं चरणा नाल लग जावां,
जो मैं होवां शुद्ध आत्मा, ते मैं कद्दे वी न घबरावां,
मेरे भाग जो होवन चंगेरे, मैं तेरे दर ते आवां,

जो होवे कृपा तेरी, मैं रज रज दर्शन पावां।

(परपंरागत भजन)
Post a Comment

कब आ रहे हो

" कब आ रहे हो ?" " अभी तो कुछ कह नही सकता। " " मेरा दिल नही लगता। जल्दी आओ। " " बस...