Sunday, January 05, 2014

तस्वीर तेरी

तस्वीर तेरी भगवन नजरो में समाई है, नजरो में समाई है।
तेरे नाम की मस्ती ने सारी दुनिया भुलाई है, सारी दुनिया भुलाई है।।

उपकार तेरा भगवन हरगिज न भुलाऊंगा,
तेरे नाम की महिमा दिन रात मैं गाऊंगा,
तेरे नाम की मस्ती ने सारी दुनिया भुलाई है, सारी दुनिया भुलाई है।।

प्रकाश बरसता है आशा की डगरिया में,
बिखरें हैं अब मोती जीवन की डगरिया में,
तेरी जोत से मैंने भी इक जोत जगाई है,
तेरे नाम की मस्ती ने सारी दुनिया भुलाई है, सारी दुनिया भुलाई है।।

तुम ज्योती कलश भगवन मैं एक पतंगा हूं,
शबरी की तरह मैं भी तेरे नाम में रंगा हूं,
तेरे नाम की मस्ती ने सारी दुनिया भुलाई है, सारी दुनिया भुलाई है।।

तस्वीर तेरी भगवन नजरो में समाई है, नजरो में समाई है।

तेरे नाम की मस्ती ने सारी दुनिया भुलाई है, सारी दुनिया भुलाई है।।

(परंपरागत भजन)
Post a Comment

जगमग

दिये जलें जगमग दूर करें अंधियारा अमावस की रात बने पूनम रात यह भव्य दिवस देता खुशियां अनेक सबको होता इंतजार ...