Sunday, April 13, 2014

कैसे लग जाती है


कैसे लग जाती है सबको खबर,
श्याम चले आते हैं भक्तों के घर।
भक्तों का श्याम जी पर पूरा विश्वास,
श्याम जी से हो गया प्यार बेकरार।
कैसे लग जाती है सबको खबर,
श्याम चले आते हैं भक्तों के घर।

भक्तों के घर लगा रहता आना जाना,
भक्तों का श्याम जी से रिश्ता पुराना,
श्याम मैरे ढूंढ लेते भक्तों का घर।
कैसे लग जाती है सबको खबर,
श्याम चले आते हैं भक्तों के घर।

ढूंढ लिया खोज लिया सारा जहान,
भक्तों के घर मिलें चरणों के निशान,
कैसे लग जाती है सबको खबर,

श्याम चले आते हैं भक्तों के घर।

(परंपरागत भजन)
Post a Comment

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी , खुशी की घड़ियां मना रहे हैं करें बयां क्या सिफ़त तुम्हारी , जबां में ताले पड़े हैं। सु...