Sunday, April 27, 2014

जीवन के चार लक्ष्य

जीवन के चार लक्ष्य हैं:

धर्म
अर्थ (आर्थिक विकास)
कामदेव (भावना संतुष्टि)
मोक्ष (मुक्ति)


वैदिक ज्ञान के अनुसार, घरेलू जीवन में खुशी का राज इन चार लक्ष्यों के संतुलित और विनियमित अनुसरण में है। 
Post a Comment

अनाथ

चमेली को स्वयं नही पता था कि उसके माता - पिता कब गुजरे। नादान उम्र थी उस समय चमेली की सिर्फ चार वर्ष। सयुंक्त परिव...