Sunday, April 27, 2014

जीवन के चार लक्ष्य

जीवन के चार लक्ष्य हैं:

धर्म
अर्थ (आर्थिक विकास)
कामदेव (भावना संतुष्टि)
मोक्ष (मुक्ति)


वैदिक ज्ञान के अनुसार, घरेलू जीवन में खुशी का राज इन चार लक्ष्यों के संतुलित और विनियमित अनुसरण में है। 
Post a Comment

दस वर्ष बाद

लगभग एक वर्ष बाद बद्री अपने गांव पहुंचा। पेशे से बड़ाई बद्री की पत्नी रामकली गांव में रह रही थी। बद्री के विवाह को दो वर्ष हो चुके थे। विवा...