Sunday, August 31, 2014

एक पल

एक पल रुक गया,
ख्वाब देखा आगे बढने का।
एक पल रुक गया,
खवाब टूट गया।
एक पल रुक गया,
सपना देखा अच्छा सा।
एक पल रुक गया,
बुरा सा सपना आ गया।
एक पल रुक गया,
मैंने दुआ की।
एक पल रुक गया,
किसी ने दुआ की।
एक पल रुक गया,
वो मिला सोचा कहूं।
एक पल रुक गया,
सोच रहा हूं क्या कहूं।
एक पल रुक गया,
सोच रहा हूं कैसे कहूं।
एक पल रुक गया,
ख़ुशी छा गई।
एक पल रुक गया,
उदासी छा गई।
एक पल रुक गया,
उम्मीद जग गई।
एक पल रुक गया,
उम्मीद ना रही।
एक पल रुक गया,
में हंस पड़ता हूँ।
एक पल रुक गया,
मैं रो पड़ता हूँ।
एक पल रुक गया,
दोस्तों का कारवां बन गया।
एक पल रुक गया,
वीरानों का साथी बन गया।
एक पल रुक गया,
सम्बन्ध बन गए।
एक पल रुक गया,
सम्बन्ध बिगड़ गए।
एक पल रुक गया,
मैं लुट गया।
एक पल रुक गया,
मैं चैन से सो गया।
एक पल रुक गया,
परिवार बढ गया।
एक पल रुक गया,
परिवार घट गया।
एक पल रुक गया,
बचपन निकल गया।
एक पल रुक गया,
यौवन बीत गया।
एक पल रुक गया,

ख़ुद चला गया।।
Post a Comment

मदर्स वैक्स म्यूजियम

दफ्तर के कार्य से अक्सर कोलकता जाता रहता हूं। दफ्तर के सहयोगी ने मदर्स वैक्स म्यूजियम की तारीफ करके थोड़ा समय न...