Monday, December 01, 2014

तुझे हुआ क्या है

दिले नादान तुझे हुआ क्या है,
हर पल है बैचैन तुझे हुआ क्या है,
कोई बात नहीं मानता तुझे हुआ क्या है,
कभी रोता है कभी हँसता तुझे हुआ क्या है,
कभी कल्पना की ऊंची उड़ान कभी पाताल के गोते तुझे हुआ क्या है,
कभी बच्चा बना कभी बुजुर्ग बना तुझे हुआ क्या है,
कभी नसीहत कभी फजीहत तुझे हुआ क्या है,
कभी राजा कभी रंक तुझे हुआ क्या है,
कभी जीत कभी हार तुझे हुआ क्या है,
कभी तोला कभी मासा तुझे हुआ क्या है,
हर मर्ज की वजह तू तुझे हुआ क्या है,
हर पल है बैचैन तुझे हुआ क्या है,

दिले नादान तुझे हुआ क्या है, तुझे हुआ क्या है
Post a Comment

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी , खुशी की घड़ियां मना रहे हैं करें बयां क्या सिफ़त तुम्हारी , जबां में ताले पड़े हैं। सु...