Thursday, October 29, 2015

अध्धयन से पूर्व की प्रार्थना

अध्धयन से पूर्व की प्रार्थना

सरस्वति नमस्तुभ्यं वरदे कामरूपणि ।
विध्यारम्भं करिष्यामि सिद्धिर्भवतु मे सदा ।।

सभी कामनाओं को पूर्ण करने वाली (मां) सरस्वती, मैं आपको प्रणाम करते हुए, अपनी विद्या का आरम्भ करूगां जिस में मुझे सदा सिद्धि प्राप्त हो।

Prayer before studies


O Goddess Saraswati, my humble prostrations unto Thee, who is the fulfiller of all wishes. I will start my studies with thy worship and always grant me success.
Post a Comment

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी , खुशी की घड़ियां मना रहे हैं करें बयां क्या सिफ़त तुम्हारी , जबां में ताले पड़े हैं। सु...