Monday, November 23, 2015

जब भी जन्म मिलेगा

जब भी जन्म मिलेगा

जब भी जन्म मिलेगा, सेवा करेंगे तेरी।
करते हैं तुम से वादा, शरण रहेंगे तेरी।
हर जीवन में बनकर साथी, देना साथ हमारा।।

दुनिया बनाने वाले, ये सब तेरी माया।
सूरज चांद सितारे, सब कुछ तूने बनाया।
फंस ना जाऊं माया में, रहे आर्शीवाद तुम्हारा।।

जब से होश संभाला, तब से हमने जाना।
तेरी भक्ति ना मिले, जीवन व्यर्थ गंवाना।
बनवारी इंसान जगत में, फिरता मारा-मारा।।

करेंगे सेवा हर जीवन में, पकड़ो हाथ हमारा।।
Post a Comment

जगमग

दिये जलें जगमग दूर करें अंधियारा अमावस की रात बने पूनम रात यह भव्य दिवस देता खुशियां अनेक सबको होता इंतजार ...