Monday, August 08, 2016

मुझे अपने रंग में रंग दे


दिल दीवाना है आपका, दिलदार सांवरे।
मुझे अपने रंग में रंग दे, मेरे यार सांवरे।।

मुझे ऐसे रंग में रंग दे, उतरे ना जन्म-जन्म तक
नाम तुम्हारा कान्हा, लिख दे सारे बदन पर
मुझे अपना बना के देखो, एक बार सांवरे।
दिल दीवाना है आपका, दिलदार सांवरे।
मुझे अपने रंग में रंग दे, मेरे यार सांवरे।।

भवसागर में मोहन तू, मांझी बन कर आना
भटकूं इधर-उधर तो, मुरली मधुर सुनाना
मेरी जीवन नैया ले जा, उस पार सांवरे।
दिल दीवाना है आपका, दिलदार सांवरे।
मुझे अपने रंग में रंग दे, मेरे यार सांवरे।।

प्रीत लगाना ऐसी, निभ जाये मरते दम तक
इसके अलावा तुमसे, मांगा ना कुछ भी अब तक
मोहन तेरे बिन जीना, बेकार सांवरे।
दिल दीवाना है आपका, दिलदार सांवरे।
मुझे अपने रंग में रंग दे, मेरे यार सांवरे।।


परंपरागत भजन
Post a Comment

मौसम

कुछ मौसम ने ली करवट दिन सुहाना हो गया रिमझिम बूंदें पड़ने लगी आषाढ़ में सावन आ गया गर्म पानी भाप बन कर उड़ गया ...