Friday, November 18, 2016

गांव

गांव की बात करते हैं
देखने जाता कोई नही

जज्बात सबके जुड़े हैं
रहने जाता कोई नही

याद गांव की आती है

मुड़ कर देखता कोई नही
Post a Comment

अनाथ

चमेली को स्वयं नही पता था कि उसके माता - पिता कब गुजरे। नादान उम्र थी उस समय चमेली की सिर्फ चार वर्ष। सयुंक्त परिव...