Tuesday, March 14, 2017

तमाशा

दुनिया खुद है एक तमाशा
चुनाव सबसे बड़ा तमाशा
उफ़ नहीं होता अब सब्र
कब शुरू होगा अगला तमाशा


Post a Comment

मौसम

कुछ मौसम ने ली करवट दिन सुहाना हो गया रिमझिम बूंदें पड़ने लगी आषाढ़ में सावन आ गया गर्म पानी भाप बन कर उड़ गया ...