Friday, May 12, 2017

गुलाब

जीवन एक गुलाब है
गुलाब जैसे अनेक रंग है
जैसे इसके रंग अनेक
हमारी पसंद अनेक
गुलाब की तरह खिलता है जीवन
हर कोई चाहता है गुलाब सा महकना
सबका आसक्त है जीवन
गुलाब जैसे मुरझाता है जीवन
खुशबु जीवन का सुख है
कांटे जीवन के दुःख है


Post a Comment

अनाथ

चमेली को स्वयं नही पता था कि उसके माता - पिता कब गुजरे। नादान उम्र थी उस समय चमेली की सिर्फ चार वर्ष। सयुंक्त परिव...