Monday, June 12, 2017

उससे

गिला कर उससे
गिला करेगा वो तुझसे
शिकायत कर उससे
शिकायत करेगा वो तुझसे

नफरत कर उससे
नफरत करेगा वो तुझसे
उम्मीद रख उससे
उम्मीद रखेगा वो तुझसे

चैन से रहने दे उसको
चैन से रहने देगा वो तुझको
प्यार कर उससे

प्यार करेगा वो तुझसे


Post a Comment

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी , खुशी की घड़ियां मना रहे हैं करें बयां क्या सिफ़त तुम्हारी , जबां में ताले पड़े हैं। सु...