Friday, August 04, 2017

जीना इसी का नाम


कुछ फिर दिल उदास हो गया
कुछ किसी ने कह दिया
कुछ अपनो के ताने कुछ औरों की बातें
कुछ तबियत बिगड़ने लगी
कुछ डॉक्टर ने पहाड़ घूमने की सलाह दी
कुछ शांत स्थल पर शांत वातावरण देखा
कुछ परिंदों की चहल सुनी उन्मुक्त उड़ते देखा
कुछ बेफिक्री उनकी देखी कल की उनको फिक्र नही
कुछ उनसे जीने की सीखी कला कुछ स्वास्थ्य लाभ हुआ
कुछ अहसास हुआ जीना इसी का नाम है


Post a Comment

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी

हुए हैं जब से शरण तुम्हारी , खुशी की घड़ियां मना रहे हैं करें बयां क्या सिफ़त तुम्हारी , जबां में ताले पड़े हैं। सु...